WHAT IS SHARE MARKET IN HINDI - Gossip Mouth

WHAT IS SHARE MARKET IN HINDI

WHAT IS SHARE MARKET IN HINDI
WHAT IS SHARE MARKET IN HINDI

WHAT IS SHARE MARKET IN HINDI

आज हम जानेंगे कि शेयर मार्केट क्या होता है और इससे हम किस तरह पैसे कमा सकते है|

शेयर मार्केट एक ऐसी जगह है जहाँ से आप खूब सारा पैसा कमा सकते हैं लेकिन आपको शेयर market की नॉलेज होनी चाहिए तभी आप इस फील्ड में पैसे कम सकते है |

शेयर मार्केट के बारे में बहुत से लोगों ने सुना तो होगा पर शेयर मार्केट क्या है और इसमें कैसे इन्वेस्ट किया जाता है वह जानने की कोशिश कभी नहीं की होगी क्योंकि शेयर मार्केट हम सबको पहले से ही लगता है कि शेयर मार्केट एक जुआ है जहां सिर्फ पैसा गवाया जा सकता है | अक्सर यह बात हमारे किसी अपने ने ही हमको बताई होती है की शेयर market एक जुआ है क्युकी उस व्यक्ति ने भी ये बात किसी और से सुनी होगी | में आपको बताना चाहूँगा की शेयर market बिलकुल भी गेरकानुनी नही है इसमें आपका टैक्स कटता है और ध्यान रखिये की जिस बिज़नस में टैक्स कटे वो बिलकुल भी गेरकनुनी नही माना जाता है |

लेकिन आपको इस market के बारे में पता नहीं है यहां से बहुत से लोग करोड़पति बन चुके हैं वह करोड़पति इसीलिए बने क्योंकि उनके पास अच्छी नॉलेज थी| इस फील्ड में आने के लिए सिर्फ अच्छी नॉलेज का होना जरूरी नही बल्की आपको market में क्या चल रहा है वो भी पता होना चाहिए |

शेयर मार्केटइन इंडिया || INDIAN SHARE MARKET

इंडिया का शेयर मार्केट एक ऐसी जगह है जहां बहुत सी बड़ी-बड़ी और ब्रांडेड कंपनियों ने अपने कंपनी के प्रॉफिट और लोस को एक वैल्यू पर अंकित किया हैं जो की रोज ऊपर और नीचे जाती है और पब्लिक के बीच में शेयर प्राइस कह कर रख दिए है | शेयर्स को खरीदने का मतलब है कि आपने उस कंपनी की उतने परसेंट की भागीदारी ले ली है मान लीजिए किसी कंपनी ने 10,000 शेयर्स है और अगर आपने उस कंपनी के 5000 शेयर्स खरीद लिए तो आप उस कंपनी के 50 परसेंट के मालिक हो जाएंगे और कंपनी के लाभ और हानि होने पर आप 50 परसेंट के हिस्सेदार होंगे | इन शेयर्स को आम जनता खरीदती और बेचती है जब कंपनी को प्रॉफिट होता है तो शेयर का भाव ऊपर चला जाता है और जब कंपनियों को नुकसान होता है तो शेयर का भाव नीचे चला जाता है इसी दौरान जनता इन शेयर्स को खरीदती और बेचती रहती है| आसान भाषा में समझे तो मान लीजिए एक कंपनी के शेयर्स का प्राइस ₹100 है और कंपनी की कहीं पर अच्छी डील हो जाती है जिससे कि आने वाले दिनों में उस कंपनी को प्रोफेट हो सकता है तो इस समय कंपनी के शेयर्स का भाव ऊपर जाएगा और अगर कंपनी को घाटा होता है तो कंपनी के शेयर्स का भाव ₹100 से नीचे चला जाएगा इसी दौरान जनता इन शेयर्स को खरीदती और बेचती रहती है इसी दौरान कुछ लोगों को प्रॉफिट हो जाता है और कुछ लोगों को लॉस का सामना करना पड़ता है|

चलिए शेयर market में इन्वेस्ट करने से पहले कुछ जानकारी ले लेते है | शेयर मार्केट में आप दो जगह इन्वेस्ट कर सकते हैं आसान भाषा मैं कहें तो शेयर मार्केट मैं दो दुकानें हैं जहां से आप शेयर्स खरीद और बेच सकते हैं|
1.BSE - मुंबई स्टॉक एक्सचेंज यह भारत की पहली सर्विस है जोकि हमें शेयर्स खरीदने और बेचने मैं मदद करती है| बीएसई की स्थापना 1875 मैं हुई थी |
2.NSE - नेशनल स्टॉक एक्सचेंज यह भारत की दूसरी और आखिरी सर्विस है| एनएसइ की स्थापना 1992 मैं हुई थी|
शेयर मार्केट मैंइनवेस्ट करने से पहले सबसे पहले आप कुछ जानकारी इकट्ठा करना शुरू कर दें जानकारी आपको बुक पढ़ कर और न्यूज़ पढ़कर मिलेगी, टीवी पर एक चैनल है जोकि सिर्फ शेयर मार्केट के बारे में बताता है उस चैनल का नाम है CNBCचैनल जोकि हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं मैं उपलब्ध है भरोसा कीजिए इन दोनों कामों को करने से आप में बहुत ही नॉलेज आ जाएगी शेयर मार्केट के बारे में अगर आपको लगता है कि मैं आब शेयर मार्केट के बारे में थोड़ा बहुत जान चुका हूं और अब मैं शेयर मार्केट मैं इन्वेस्ट करने के लिए तैयार हूं तो नीचे दी गई जानकारी को अवश्य पढ़ें ताकि आप शेयर मार्केट मैं अपना पहला कदम रख सकें और बहुत सारा पैसा कमा सकें|
सबसे पहले आपको शेयर मार्केट मैं इन्वेस्ट करने के लिए डीमेट अकाउंट खुलवाना होगा जो कि आप बैंक मैं या फिर किसी शेयर ब्रोकर सेखुलवा सकते है |ऐसे बहुत से ब्रोकर है जो की 2-3 दिन में डीमेट अकाउंट खुलवा देते है और यह ऑनलाइन भी है घर बैठे सारा काम हो जाता है जैसे कि जीरोधा, अप स्टॉक्स, शेरखान, एंजेल ब्रोकिंग जोकि आपको शेयर मार्केट के लिए डीमेट अकाउंट खुलवा रही हैं | मेरी माने तो आप इन वेब साइट्स पर जाकर ही अपना डीमेट अकाउंट खुलवायें क्योंकि इनब्रोकर्स की ब्रोकरेज फीस बैंक के मुकाबले बहुत कम है| डीमेट अकाउंट खुलवानेके लिए आपके सिर्फ 200 से 300 रुपए खर्चे होंगे और आपका डीमेट अकाउंट घर बैठे ही खुल जाएगा और आपकी शेयर मार्केट मैं आपकी एंट्री हो जाएगी|

शेयर market में आप 4 तरीकों से इन्वेस्ट कर सकते है |

1. Equity shares

equity शेयर्स में खेलने के लिए आपको जितने भी शेयर्स खरीदने है उसके लिए पूरा अमाउंट चाहिए होगा मान लीजिये किसी कंपनी के शेयर्स का प्राइस 100 रूपए है और आपको उस कंपनी के 10 शेयर्स खरीदने है तो आपको शेयर्स खरीदनेके लिए आपके डीमेट अकाउंट  में 1000 रूपए होना आवशयक है तभी आप शेयर्स को खरीद सकते है | Equity शेयर्स का एक सबसे बड़ा फायदायह है कि आप equity शेयर्स में शेयर्स खरीद के बाद किसी भी समय बेच सकते है अगर आप चाहे तो जिस दिन खरीदे है उसी दिन बेच सकते है या अगले दिन या 1 महीने बाद या 1 साल बाद आपको जब भी शेयर्स में प्रॉफिट दिखे आप उसी समय शेयर्स को बेच सकते है लेकिन equity में खेलने के लिए आपको शेयर्स का पूरा अमाउंट चाहिए होगा |

2. Intraday shares

intraday शेयर्स में आपको शेयर्स खरीदने के लिये पूरा पैसा नही चाहिए होता है | मान लिजिए की किसी शेयर्स का प्राइस है 200 रूपए और आपको 100 शेयर्स खरीदने है वेसे तो इतने शेयर्स खरीदने के लिए अमाउंट हुआ 20000 रूपए लेकिन intraday ट्रेडिंग में आपको पूरे 100 शेयर्स सिर्फ 2000 रूपए में मिल जायेंगे | लेकिन आप intraday ट्रेडिंग में खेल रहे है तो आपको शेयर market बंद होने से पहले ही आपको अपने पूरे खरीदे हुए शेयर्स बेचने पड़ेंगे शेयर market बंद होने का समय 3:20 है और चालू होने का समय 9:15 है | अगर आपने शेयर्स नही बेचे तो शेयर market बंद होने के टाइम पर अपने आप शेयर्स बिक जायंगे और कुछ अमाउंट आपके अकाउंट से पेनल्टी के तोर पर कट जायेगा | इसलिए शेयर्स को ध्यान सेशेयर market बंद होने से पहले ही बेच दें | intraday ट्रेडिंग में अगर आपको लगता है की शेयर्स का प्राइस आज नीचे जा सकता है तो आप पहले शेयर्स को बेच भी सकते है और मार्किट बंद होने से पहले उस शेयर को खरीद भी सकते है अगर शेयर का प्राइस नीचे गया तो आपको प्रॉफिट हो जायगा और प्रॉफिट के रूपए आपके डीमेट अकाउंट में आ जायेंगे और अगर शेयर का प्राइस ऊपर चला गया तो उस स्तिथि में आपको लोस हो जायेगा और जितना भी लोस हुआ है उतने पैसे कट कर बचे हुए पैसे आपके डीमेट अकाउंट में वापिस आ जायेंगे|

3. Option shares

option ट्रेडिंग बहुत ही रिस्की ट्रेडिंग होती है क्युकी यहाँ पर पहले से ही शेयर्स के एक स्पेसिफिक डेट के लिए बुकिंग हो जाती है की इस डेट के लिए में ये वाला शेयर खरीद रहा हूँ | जैसा की नाम है option, option में आपके पास एक चॉइस होती है अगर आपको लगता है कि मुझे शेयर खरींदे से लोस हो जायगा तो आपकी मर्जी होती है आप शेयर खरीदो या मत खरीदो बुकिंग के बाद, इस चीज़ को अच्छी तरह समजने के लिए एक उदाहरण लेते है मान लिजिये की आपको किसी कंपनी के शेयर्स खरीदने है एक महीने बाद आपको लगता है की एक महीने बाद इस कंपनी के शेयर्स भड जायंगे तो आप आज ही कुछ पैसे कम देकर बुकिंग अमाउंट में शेयर्स खरीद लेते है और उस कंपनी के शेयर्स वाकई में भड जाते है एक महीने बाद तो आप उस कंपनी को पूरे पैसे देकर बुकिंग अमाउंट में ही शेयर्स खरीद सकते है और यदि उस कंपनी के शेयर्स में गिरावट आई तो आपके पास एक option होता है की में शेयर्स को खरीदूं या नही अपने बुकिंग अमाउंट में | अगर गिरावट आने पर शेयर्स की expiry डेट से पहले आपने नही खरीदे तो जिस अमाउंट में आपने शेयर्स को बुक किये थे वो अमाउंट जीरो हो जायगा इसलिए कहा जाता है की option ट्रेडिंग काफी रिस्की ट्रेडिंग होती है | रिस्की होने की वजह से लोग इसमें जादा पैसे लगाते है क्युकी इसमें पैसे लगाने से लोगों को काफी अधिक फायदा होता है |

4. Future shares

future ट्रेडिंग में आपको कम अमाउंट में बुकिंग तो हो जाती है एक स्पेसिफिक डेट के लिए लेकिन future ट्रेडिंग में कोई option नही रहता जब expiry डेट से पहले आपको शेयर्स लेने ही पड़ते है चाहे आपकी मर्जी हो या न हो और शेयर्स न लेने पर expiry वाले दिन market के ख़तम होने के बाद जिस भी वैल्यू पे market खत्म हो जाता है उसी वैल्यू पर शेयर्स अपने आप खरीद जाते है और आपके लोस या प्रॉफिट होने के साथ-साथ पैनल्टी के तोर पर कुछ अमाउंट भी कट जाता है | future ट्रेडिंग में आप एक एग्रीमेंट से बंधे होते हैं इसलिए शेयर को expiry से पहले खरीदना आवश्यक है |

इन चार तरीकों से आप शेयर market में इन्वेस्ट कर सकते है | मेरी नज़र में इन् चारों चीज़ों में से सबसे सेफ है equity शेयर्स क्युकी इसमें शेयर्स लेने के बाद आप कभी भी इन् शेयर्स को बेच सकते है आपका मन जब करे तब आप शेयर्स को बेचिए अगर आपको लगता है की मेरे लिए इतना प्रॉफिट सही है और जादा लालच न करते हुए आपशेयर को बेच सकते है और अपना आसानी से प्रॉफिट बुक कर सकते है | अगर आप नए है और शेयर्स में इन्वेस्ट करना चाहते है तो फिर आपको equity शेयर्स से शुरुआत करनी चाहिए | शुरू में आप कम अमाउंट ही लेकर बैठे और वो अमाउंट ऐसा होना चाहिए की अगर पैसे डूब भी जाये तो आपको जादा दुख न हो और ये बात ध्यान रखियेगा की पूरे पैसे एक ही कंपनी के शेयर्स लेने में न लगायें बल्की थोड़े थोड़े पैसे ज्यादा से ज्यादा कंपनियों में इन्वेस्ट करें ऐसा करने से किसी एक कंपनी में लोस भी होता है तो आपको ज्यादा फर्क नही पड़ेगा क्युकी आपकी दूसरी कंपनियो में प्रोफिट हो रहा होगा | और धीरे- धीरे लगातार खेलने से ही आपकी नॉलेज भड़ेगी और अगर आपको लगता है कि मेने बहुत नॉलेज गेन कर ली है और अब में पैसे कमाने के लिए तैयार हूँ तो आप अपने इन्वेस्ट अमाउंट को भडा के बाकी के ट्रेडिंग प्लेटफार्म पर भी इन्वेस्ट करके अपनी नॉलेज को आजमा सकते है |

अगर आपको हमारी लिखी हुई शेयर market की पोस्ट पसंद आई हो तो आप इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों में शेयर कर सकते है ताकि आप जैसे और लोगों को भी शेयर market की नॉलेजहो जाये और आप हमको कमेन्ट करके भी बता सकते है की आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी |

धन्यवाद !!!

Default image
Ajeet Singh
Ajeet Singh is the Author & Founder of the Gossipmouth.in. He has also completed his graduation in stream of Mechanical Engineering from Gla University (Mathura). He is passionate about Blogging & Digital Marketing.
Articles: 35

Leave a Reply