Health Insurance क्लेम सेटलमेंट इन hindi | Health Insurance को क्लेम कैसे करे

Health Insurance क्लेम सेटलमेंट इन hindi | Health Insurance को क्लेम कैसे करे

 Health insurance को क्लेम कैसे करे
Health insurance को क्लेम कैसे करे

Topic:-Health Insurance क्लेम सेटलमेंट इन hindi | Health Insurance को क्लेम कैसे करे

जैसा कि दोस्तों आप जानते हैं कि समय के साथ-साथ महंगाई बढ़ती जा रही है इसी के साथ-साथ स्वास्थ्य सेवाएं भी महंगी होती जा रही है अगर आपका कोई बिजनेस नहीं है और आप जॉब करते हैं तो आपकी सैलरी लिमिटेड है और अगर ऐसे में कोई मेडिकल इमरजेंसी हो जाती है तो स्वास्थ्य सेवाओं का खर्च इतना होता है कि आपकी सालों की सेविंग कुछ ही दिनों में खर्च हो जाएंगे इसलिए यह बहुत ही जरूरी है आप एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ले हेल्थ इंश्योरेंस किसी भी मेडिकल इमरजेंसी में आपके और आपके परिवार के बहुत काम आ सकता है |

हेल्थ केयर सेटेलमेंट एक ऐसी प्रक्रिया है जहां आप स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं का दावा कंपनी की शर्तों तथा नियमों के अनुसार किया जाता है

1. कैशलैस फैसिलिटी
2. प्रतिपूर्ति फैसिलिटी

कैशलैस फैसिलिटी- कैशलैस फैसिलिटी के दौरान आपको किसी भी नेटवर्क अस्पताल में जाकर रिक्वायर्ड डॉक्युमेंट जमा करने होंगे या फिर आपको हेल्थ इंश्योरेंस कार्ड दिखाना पड़ेगा जो कि आपको इंश्योरेंस कंपनी द्वारा प्रदान किया जाता है सत्यापन के बाद आपको स्वीकृति मिल जाती है | कैशलैस फैसिलिटी के दौरान आप और आपका परिवार सर्वोत्तम संभव उपचार ले सकते हैं कैशलैस फैसिलिटी के दौरान हॉस्पिटल के सारे बिल सीधे कंपनी भरती है और आपको एक भी रुपया जमा करने की जरूरत नहीं है

कैशलैस ट्रीटमेंट लेने के लिए आपके पास दो तरीके हैं
1. Planned admission
2. Emergency Admission

1. Planned Admission cashless treatment claim-


Planned admission में आप किसी भी नेटवर्क अस्पताल मे जाकर भर्ती हो सकते हैं जोकि डॉक्यूमेंट मे मेंशन है भर्ती के टाइम आपको कैशलेस ट्रीटमेंट का फॉर्म भरना पड़ेगा भर्ती होने के 3 दिन के अंदर आपको TPA
यानी थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर को इनफॉर्म करना होगा कि आप हॉस्पिटल में भर्ती हैं और आपको मेंबरशिप नंबर या पॉलिसी नंबर TPA को बताना पड़ेगा साथ ही आपको फॉर्म और बाकी के मेडिकल रिकॉर्ड्स भी TPA को भेजने पड़ेंगे | एक बार TPA आपके भेजे हुए डाक्यूमेंट्स का इंस्पेक्शन करके उनको अप्रूव कर देता है उसके बाद कंपनी आपके सारे मेडिकल बिलो का भुगतान कर देती है |

2. Emergency cashless treatment claim-


इमरजेंसी कैशलैस ट्रीटमेंट मैं आपको अस्पताल में भर्ती होने के बाद TPA को सभी मेडिकल रिकॉर्ड् सभी मेडिकल रिकॉर्ड्स, पॉलिसी नंबर और कैशलैस फॉर्म आप को भेजना पड़ेगा एक बार आपकी कैशलैस फैसिलिटी sactioned हो जाती है फिर कंपनी डायरेक्टली आपके सारे बिलो का भुगतान कर देती है |

2. प्रतिपूर्ति फैसिलिटी ( Reimbursement )-


प्रतिभूति फैसिलिटी मैं आपको खुद ही सारी मेडिकल सुविधाओं का पैसा देना पड़ेगा बाद में आपने जहां जहां जितना पैसा खर्च किया है उन सारे बेलो और मेडिकल रिकॉर्ड्स को कंपनी में दिखाकर आपने जितना भी पैसा मेडिकल के उपचार तथा दवाइयों में खर्च किया है वह सारा पैसा आप कंपनी से ले सकते हैं |

Reimbursement Health Insurance को क्लेम कैसे करे-


सारे मेडिकल बिलों का भुगतान के बाद आपको कंपनी की साइट से क्लेम फॉर्म डाउनलोड करके उसको फिल करना पड़ेगा क्लेम फॉर्म फिल करने के साथ ही आपको मेडिकल रिकॉर्ड जैसे कि प्रिसक्रिप्शन, दवाइयों का बिल, डिस्चार्ज की समरी यह सारे आपको कंपनी में जमा करने पड़ेंगे जमा करने के 20 दिन बाद आपको सारा पैसा दे दिया जाता है |

Default image
Ajeet Singh
Ajeet Singh is the Author & Founder of the Gossipmouth.in. He has also completed his graduation in stream of Mechanical Engineering from Gla University (Mathura). He is passionate about Blogging & Digital Marketing.
Articles: 35

Leave a Reply